Chamoli DM Swati Bhadauria launched online employment website. Where unemployed people can apply for different departments sitting at home and Sewing machine given to women for self-employment

Chamoli DM Swati Bhadauriya launched online employment website

लोकडाउन के इस बहुत बड़े संकट में कई उत्तराखंड प्रवासी जो दूसरे राज्यों में काम करने गए थे वह अब उत्तराखंड दोबारा लौट रहे हैं जिस कारण से काम न मिलने के कारण वे बेरोजगार हो गए हैं अब राज्य सरकार चाहती है कि इन लोगों को राज्य में ही रोजगार दिया जाए ताकि यह लोग पहाड़ में रहकर रोजगार कर सकें यह सरकार द्वारा तमाम ऐसी पहल की जा रही है ताकि लोगों को रोजगार से जोड़ा जा सके क्योंकि सरकार भी चाहती है कि लोगों को रोजगार के लिए दूसरी जगह यानी पलायन ना करना पड़े ऐसी सरकार ने कई बड़ी-बड़ी योजनाएं भी इसके लिए लांच की हैं ताकि लोगों को घर पर रहकर ही काम में हो सके

इसी बीच खबर आ रही है कि चमोली प्रशासन ने भी बेरोजगार हो चुके लोगों के लिए स्वरोजगार की पहल की है और इसमें सबसे बड़ा हाथ चमोली की डीएम स्वाति भदौरिया का भी है जहां कि प्रशासन ने बेरोजगार हो चुके लोगों के लिए एक ऑनलाइन वेबसाइट लॉन्च की है जिसमें जो युवा काम की तलाश कर रहे हैं वह इस वेबसाइट के माध्यम से अलग-अलग विभागों में रोजगार ढूंढ सकते हैं चमोली में बीजेपी विधायक महेंद्र प्रसाद भट्ट ने IAS Swati की उपस्थिति में एक रोजगार वेबसाइट www.Chamolijsy.in को लॉन्च किया है इस वेबसाइट की लॉन्चिंग महेंद्र बिष्ट द्वारा कराई गई महेंद्र सिंह बिष्ट पहले एक कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजर के रूप में कार्य करते थे लेकिन स्वरोजगार की चाह उन्हें उत्तराखंड की तरफ खींच लायी जहां उन्होंने स्वरोजगार को अपनाकर बागवानी शुरू की अब वह भी चाहते हैं कि दूसरे प्रवासी जो बेरोजगार हैं वह स्वरोजगार को अपनाकर अपने ही जिले में काम करें.

Read Also: कैसे एक गरीब रिक्शा चलाने वाले का बेटा बना कलेक्टर

यह स्वरोजगार वेबसाइट उन सभी लोगों के लिए फायदेमंद है जिनका लोकडाउन की वजह से काम बंद हो गया है अब वह अपने राज्य जिला में रहकर ही पशुपालन कृषि मत्स्य पालन डेयरी जैसे विभागों के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं और बहुत से लोग इस चाह में इस वेबसाइट के माध्यम से आवेदन भी कर चुके हैं, इस वेबसाइट के माध्यम से लाखों युवाओं को रोजगार मिलना शुरू हो गया है इस वेबसाइट को कृष्णकांत सिंह द्वारा डिजाइन किया गया है जोकि पेशे से एक इंजीनियर है

अगर आप भी लोक डाउन में बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं तो आप भी इस वेबसाइट के माध्यम से स्वदेशी रोजगार प्राप्त कर सकते हैं अधिक जानकारी के लिए आप चमोली प्रशासन द्वारा लांच की गई वेबसाइट Chamolijsy को विजिट करके देख सकते हैं.

महिलाओं के लिए भी दिया रोजगार का साधन

चमोली जिला का आखिरी गांव माणा तथा नीति संसाधनों से दूर जहां पर ना तो कोई डिजिटल सेवा है ना कोई रोजगार जहां के प्रमुख संसाधन और रोजगार केवल खेती तथा हस्तशिल्प है यहां पर भावी संसाधनों की कमी होने के कारण लोगों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है लेकिन यहां की महिलाएं हस्तशिल्प कला में इतनी माहिर है कि इनके बनाए गए हस्तशिल्प लोगों को इतने पसंद आते हैं कि इनकी चर्चाएं विदेशों तक होती है लेकिन हस्तशिल्प के लिए इनके पास सिलाई मशीनों की भारी कमी है जिस पर इन गांवो का दौरा चमोली की कलेक्टर IAS swati S Bhadauria ने किया और इन लोगों को उनकी समस्या के बारे में चर्चा की जिस पर लोगों ने बताया कि यहां पर हस्तशिल्प कला मैं महिलाएं बहुत माहिर हैं लेकिन सिलाई मशीन का अभाव होने के कारण वह अपनी कला को आगे नहीं ला पाती और लोगों ने जिलाधिकारी से सिलाई मशीन की मांग भी की.

इस पर स्वाति एस भदौरिया ने गंभीरता से विचार किया और लोगों की परेशानी को देखते हुए उन्होंने कम समय में यहां सिलाई मशीनों को भेज दिया जिस पर ग्रामीण लोग बहुत खुश हो गए और उन्होंने जिलाधिकारी का धन्यवाद दिया और उन्होंने बताया कि जिस काम को करने में उन्हें 20 से 25 दिन लग जाते थे अब वह काम उन्हें करने में केवल 1 से 2 दिन ही लगता है.